Medicinal Uses Of “PIPAL”

पीपल के औषधीय लाभ

पीपल औषधीय वृक्ष है। इसके पत्ते, फल लकड़ी और अन्य भागों में कुछ न कुछ औषधीय गुण होते है। पीपल से हम नपुंसकता (Impotence), त्वचा रोग, अस्थमा, गुर्दे की बीमारी, कब्ज आदि रोगों का ठीक कर सकते है। पीपल के पत्‍तों में ग्‍लूकोज, फेनोलिक, मेनोस आदि पोषक तत्व होते है जबकि इसकी छाल में विटामिन K, टैनन और फाइटोस्‍टेरोलिन अच्छी मात्रा में होते है। इनमें एंटीऑक्सिडेंट और खनिज पदार्थ भी होते है। पीपल वृक्ष में इनका संग्रह होने के कारण यह औषधीय पेड़ कहलाता है।

  • वीर्य बढ़ाएं और नपुंसकता को दूर भगाएं
    पीपल पर लगने वाला फल जिसे पिपरी कहते हैं; को छाया में सुखाकर पीस कर चलनी से छान लें। अब इस चूर्ण का एक चौथाई चम्मच 250 ग्राम दूध में मिलाकर नियमित रूप से पीने से वीर्य बढ़ता है तथा नपुंसकता दूर होती है।
  • आँखों के लिए लाभकारी
    पीपल का दूध आंखों के अनेक रोगों को दूर करता है। पीपल के पत्ते या टहनी तोड़ने से जो दूध निकलता है उसे थोड़ी मात्रा में प्रतिदिन सलाई से लगाएं और आंखों में दर्द, जलन और सूजन में राहत पाएं।

पीपल के पत्ते के गुण

  • कान का दर्द दूर करें

पीपल की ताज़ी पत्तियों को निचोड़कर उसका रस कान में डालने से कान दर्द दूर होता है।

  • पैरों की बिवाई को ठीक करें
    पीपल के पत्ते से निकलने वाले दूध को लगाने से पैरों की बिवाई ठीक हो जाती है।
  • खाँसी को छू मंतर करें
    जब आप खांस खांस कर परेशान हो जाएं तब खांसी के रोग से छुटकारा पाने के लिए पीपल के पत्तों को छाया में सुखाकर कूट कर इसमें मिसरी मिला दें तथा कीकर का गोंद मिलाकर चने के आकार के बराबर गोली बना लें। दिनभर में 2 गोलियां कुछ दिनों तक चूसनें से खांसी छू मंतर हो जाएगी।
  • सर्दी जुखाम से बचाएं
    सर्दी जुखाम होने पर पीपल की 2 कोमल पत्तियों को चूसने से सर्दी जुकाम में आराम मिलता है।
  • दाद खाज खुजली भगाएं
    पीपल के 4-5 कोमल, नरम पत्ते ख़ूब चबा-चबाकर खाने से तथा इसकी छाल का काढ़ा बनाकर आधा कप मात्रा में पीने से दाद, खाज, खुजली आदि चर्म रोगों में आराम मिलता है।

अस्थमा दमा

  • दमा रोग को ठीक करें
    पीपल की छाल के अन्दर का भाग निकालकर सुखा लें और कूट-पीसकर महीन चूर्ण कर लें, यह चूर्ण दमा रोगी को सेवन कराएं इससे दमा रोग में आराम मिलेगा।

दमा रोग या अस्थमा – इसके लक्षण और घरेलू उपचार

  • पीपल का दातून करने से लाभ
    पीपल के दातुन से दांतों के रोग जैसे दांतों में कीड़ा लगना, मसूड़ों में सूजन, ख़ून निकलना, दांतों का पीलापन आदि रोग दूर हो जाते है। पीपल की दातून करने से मुंह की दुर्गंध दूर होती है और आंखों की रोशनी भी बढ़ती है।
  • पीलिया रोग को दूर करें
    अगर पीलिया का रोगी पीपल की नर्म टहनी के छोटे-छोटे टुकड़े काटकर माला बना लें और इस माला को एक सप्ताह तक धारण करे तो पीलिया रोग चला जाता है।

पीपल के औषधीय गुणों से परिचित होने के बाद यक़ीनन आप भी इस पेड़ को लगायेंगे और इसके चमत्कारिक लाभ से फ़ायदा उठायेंगे।

Author: admin

A team work for healthy nature & healthy life

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *