Medicinal Use Of Kapur “Camphor”

कपूर
पूजा में इस्तेमाल किया जाने वाला कपूर भले ही भगवान को खुश करने के लिए प्रयोग किया जाता हो। लेकिन इसके स्वास्थवर्धक फायदे भी बहुत हैं। जिनके बारे में शायद ही आप जानते हों। कपूर में मिलने वाले तत्व आपको कई रोगों से दूर रख सकते हैं। सेहत और सौंर्दय को बढ़ाने के लिए कपूर का इस्तेमाल पुराने समय से ही किया जाता रहा है।

सदियों से लोग बस इसका यही उपयोग करते आ रहे हैं। लेकिन क्या आपको पता है, कपूर कुछ ऐसे भी फायदे देता है, जिससे आप कई प्रकार की बीमारियों को खत्म कर सकते हैं। आयुर्वेद में भी कपूर के कई प्रकार के उपाय बताए गए हैं। जिनके सही इस्तेमाल से आप कई बीमारियों से बच सकते हैं। आज हम भी आपको कपूर के कुछ ऐसे ही फायदे के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें जानकर आप हैरान रह जाएंगे।

एक कपूर गोली तनाव को मिनटों में दूर कर सकती है.लेकिन इसके लिए आपको कपूर गोली कमरे में जलानी होगी.जो हर घर की पूजा सामग्री में आसानी से मिल जाती है। यह मानसिक तनाव को दूर करने में बहुत उपयोगी है.इसके अलावा कपूर श्वसन रोगों को दूर करने में सहायक है…

कपूर जलाने के फायदे

एक कपूर गोली को एक छोटी कटोरी में जलाकर कमरे के भीतर 10 मिनट तक रखने से कपूर की खुशबू पूरे कमरे में होने से कमरे का वातावरण शुद्ध बनेगा और मानसिक थकान दूर होगी। इसके अलावा कपूर कमरे में जलाने से कमरे में मच्छर नही होते है।

इस उपाय को यदि आप रोजाना करते हैं तो आपको स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से मुक्ति मिलेगा। रोग एक ऐसी परेशानी है जिसके कारण धन की काफी हानि होती है, इसलिए यह उपाय आपको धन के नुकसान से बचाता है। उपाय इस प्रकार है – आपको घर के बेडरूम एवं जिस कक्ष में बच्चे भी सोते हैं वहां शाम/रात के समय कपूर जलाना है। इस कपूर से उत्पन्न होने वाले धुएं का सारा पूरी रात घर के सदस्यों पर बना रहेगा, यह पूरी रात आपको नकारात्मक ऊर्जा से बचाएगा और रोग उतपन्न नहीं होने देगा।

इसके अलावा तुलसी के दो या तीन पत्तों के रस में कपूर मिलाकर दो तीन बूंदे कान मे डालने से कान दर्द से छुटकारा मिलता हैं.इसके अलावा कपूर तेल को दिमाग पर लगाने व सूंघने से मस्तिष्क का तनाव दूर होता है।

पेट दर्द कभी भी हो सकता है। इसका कोई भरोसा नहीं है ऐसे में कई बार हमारे घर पर दवाई हो या नहीं। ऐसे में अगर आपको या परिवार में किसी को पेट दर्द की परेशानी है तो इसके लिए एक गिलास पानी में एक चम्मच अजवायन डालकर उबालें और जब पानी आधा रह जाए, उसमें जरा सी कपूर डालकर मरीज को पिला दें इससे पेट दर्द से जल्द ही छुटकारा मिल जाएगा।

भाई आजकल के लड़के और लड़कियों की सबसे बड़ी समस्या यही है। चेहरे का ख्याल रखने के लिए ना जाने कितने ही प्रकार के उपाय करते हैं। लेकिन नतीजा कुछ नहीं मिलता। पिंपल्स, दाग और चोट के निशान से बचने के लिए आप कपूर का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप को नारियल के तेल में कपूर मिलाकर रख लें और रोज अपने पिंपल्स, दाग और चोट के निशान पर लगाएं ऐसा करने से कुछ ही दिनों में आपके सभी निशान खत्म हो जाएंगे।

बालों की समस्या से आज हर कोई परेशान है। कभी बालों में डैंड्रफ तो कभी बालों का लगातार झड़ना लगा रहता है। इन परेशानियों को खत्म करने के लिए आप नारियल तेल में कपूर मिलाकर और इन्हें हल्का गर्म करके सिर पर मालिश करें और 1 घंटे बाद अपने बालों को पानी से धो लें। ऐसा करके डेंड्रफ के साथ बालों का झड़ना भी खत्म हो जाएगा और बाल भी मजबूत बनेंगे।

हिंदू धर्म में देवताओं की आरती में कपूर का प्रयोग करना एक सहज परंपरा है। इसके पीछे कई आध्यात्मिक तथा वैज्ञानिक कारण भी छिपे हुए हैं। आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ बातों के बारे में…

कपूर की गंध मन को भाने वाली होती है। इसको जलाने से वातावरण तो सुगंधित होता ही है, सकारात्मक ऊर्जा से भी परिपूर्ण हो जाता है। तंत्र में कपूर का प्रयोग नकारात्मक शक्तियों तथा ऊर्जा को घर से दूर करने के लिए किया जाता है।

सोते समय घर में कपूर जलाने से माहौल अच्छा बनता है तथा रात को नींद में बुरे स्वप्नों से मुक्ति मिलती है।

रोजाना शाम को गोबर के कंडे पर कपूर तथा गूगल रख कर जलाने से घर में कोई भी बुरी शक्ति प्रवेश नहीं कर पाती है।

कपूर जलाने का वैज्ञानिक महत्व भी है। इसे जलाने से वातावरण में मौजूद सभी प्रकार के सूक्ष्म बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं, जिससे रोग फैलने की आशंका न्यूनतम हो जाती है।

शास्त्रों के अनुसार कपूर जलाने से घर का पितृदोष तथा देवदोष शांत होता है।

कपूर के स्वास्थ्य वर्धक फायदे

गठिया रोग में : गठिया के दर्द में बहुत परेशानी होती है। जो लोग गठिया के दर्द से परेशान हैं वे कपूर के तेल से गठिया वाली जगह पर मालिश करें। इससे तुरंत आराम मिलता है।

जल जाने पर : यदि आग से कोई अंग जल गया है तो ऐसे में कपूर बेहद फायदेमंद और आरामदायक दवा के रूप में काम करता है। कपूर का तेल को आग से जले अंग पर लगाने से जलन से राहत मिलती है।

खुजली होने पर : गर्मियों के मौसम में खुजली की समस्या अधिक होती है। यदि खुजली हो रही हो तो अपनी त्वचा कपूर को घिसें। इससे खुजली खत्म हो जाएगी।

पेट के दर्द में कपूर : पेट दर्द होने पर या पेट में बेचैनी हो रही हो तो कपूर बहुत फायदेमंद होता है। आप अजवायनए पोदिना और कपूर को मिलाकर इसका शर्बत बनाएं और इसका सेवन करें। इस उपाय से पेट का र्द ठीक हो जाता है।

टेंशन होने पर कपूर का प्रयोग : यदि बेवजह के तनाव से दिमाग में परेशानी हो रही हो तो अपने सिर में कपूर के तेल की मालिश करें। कपूर के तेल की मालिश से तनाव धीरे.धीरे खत्म होने लगता है। साथ ही सिर का दर्द भी दूर होता है।

जुकाम और फेफड़ों के रोग के उपचार में कपूर : यदि फेफड़ों में समस्या हो रही हो या सर्दी जुकाम लग गया हो तो ऐसे में आप कपूर को सूंघने से राहत मिलती है।

बालों का झड़ना भी रोकता है कपूर : यदि बाल लगातार झड़ रहें हो तो नरियल के तेल में कपूर के तेल को मिलाकर इसको बालों पर लगाएं। कुछ ही दिनों में आपके बाल झड़ना रूक जाएगें।

जोडों के दर्द में कपूर : शरीर की मुख्य समस्या है जोड़ों में दर्द होना। इसलिए आप कपूर के तेल को जोड़ों पर लगाएं। इससे आपको जोड़ों के दर्द से राहत मिलेगी।

त्वचा का कोमल बनाता है कपूर : रूखी त्वचा को नरम बनाना और चेहरे पर निखार लाता है कपूर। बेहद काम की चीज है कपूर। इसलिए अपने घर में कपूर होने का पूरा फायदा उठाएं।

Author: admin

A team work for healthy nature & healthy life

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *