Benefits Of Methidana

बुढ़ापे तक रहना है चुस्त दुरुस्त तो खाओ मेथीदाना

मेथीदाना-

जो व्यक्ति बुढ़ापे तक स्वस्थ और हट्टा कट्टा रहना चाहता हैं, और चाहता हैं के उसको मधुमेह, रक्तचाप, हृदय रोग, जॉइंट पैन जैसी बीमारिया ना लगे तो उसको मेथी दाने का सेवन जरूर करना चाहिए।

वैद्य या जानकार की सलाह के अनुसार या अंकुरित कुछ मैथीदाना दाने लेकर धीरे-धीरे खूब चबा-चबाकर प्रात: खाली पेट, या शाम को पानी की सहायता से सेवन करने चाहिए, अगर चबाने में दिक्कत हो तो पानी की सहायता से निगल सकते हैं।

ऐसा करने से व्यक्ति सदैव निरोग और चुस्त बना रहेगा और मधुमेह, जोड़ों के दर्द, शोथ (सूजन), रक्तचाप, बलगमी बीमारियां, अपचन आदि अनेकानेक रोगों से बचाव होगा।

वृध्दावस्था की व्याधियां जैसे सायटिका, घुटने का दर्द, हाथ-पैरों का सुन्न पड़ जाना, मांसपेशियों का खिचाव, भूख न लगना, बार-बार मूत्र आना, चक्कर आना आदि, उसके पास नही फटकेगी। ओज, कान्ति और स्फूर्ति में वृद्धि होकर व्यक्ति दीर्घायु होगा।

मेथीदाना सेवन का सही तरीका 

यद्यपि अलग-अलग बिमारियों के इलाज के लिए मैथीदाना का प्रयोग कई प्रकार से किया जाता है जैसे मैथीदाना भिगोकर उसका पानी पीना या भिगोये मैथीदाना को घोट छानकर पीना, उसे अंकुरित करके चबाना या रस निकालकर पीना, उसे उबालकर उसका पानी पीना या सब्जी बनाकर खाना, खिचड़ी या कढी पकाते समय उसमे डालकर सेवन करना।

साबूत मैथीदाना प्रात: चबाकर खाना और रात्रि में पानी संग निगलना, भूनकर या वैसे ही उसका दलिया या चूर्ण बनाकर ताजा पानी के साथ फक्की लेना, मैथीदाना के लड्डू बनाकर खाना आदि परन्तु मैथी के सेवन का निरापद और सबसे अच्छा तरीका है उसका काढ़ा या चाय बनाकर पीना।

मेथीदाना खाने के फ़ायदे-

डायबिटीज पर नियन्त्रण : मेथीदाना को खाने से डायबिटीज को कंट्रोल करने में बहुत मदद मिलती है। इसको खाने से पेशाब में सुगर की मात्रा कम हो जाती है। इसमे मोजूद प्राकृतिक फायबर के कारण तथा इन्सुलिन पर मेथीदाना के उपयोग से पड़ने वाले प्रभाव से डायबिटीज में यह बहुत फायदेमंद साबित होता है।

कोलेस्ट्रॉल पर नियन्त्रण : मेथीदाना खाने से कोलेस्ट्रॉल पर नियन्त्रण रहता हैं मेथी में मौजूद फायबर गेलेक्टोमेनन के कारण रक्त में कोलस्ट्रोल की मात्रा कम करने में मदद मिलती है। इसके नियमित रूप से खाने से रक्त में क्लोट बनने की सम्भावना कम हो जाती है। और कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद मिलती हैं।

पाचन तंत्र : मेथीदाना को खाने से पाचन तंत्र दुरस्त रहता हैं। इससे पेट और आँतों की जलन और सूजन आदि में बहुत आराम मिलता है। इसके नियमित रूप से सेवन से पेट और आँतों के अल्सर में आराम मिलाता है । इसमे पाए जाने वाले घुलनशील फायबर से कब्ज को मिटाने में बहुत सहायक हैं।

आँतों के कैंसर से बचाव : मेथी में डिओसजेनिन नामक तत्व पाया जाता हैं जो आँतों के कैंसर से बचाव करने में सक्षम होता है। अगर इसका सेवन नियमित रूप से किया जाये तो आंतों में कैंसर की समस्या कभी नही होगी।

मोटापे को कम : आयुर्वेदिक और औषधीय गुणों से भरपूर मेथी में फाइबर होता है जो न केवल हमारे कब्ज की समस्या को दूर करती है बल्कि इसके दानों को चबाने से एक्सट्रा कैलरी बर्न होती है। इसके अलावा अपने वजन को कम करने के लिए सुबह-सुबह दो गिलास मेथी का पानी पिएं। इसके लिए आपको मेथी को पानी में रातभर भिगोकर रखना होगा और सुबह छानकर उसी पानी को पीना होगा।

किडनी रोग में : बदलती खान-पान की आदतों और दौड़-भाग की जिंदगी, प्रदूषित पानी और प्रदूषण की वजह से किडनी की बीमारियां बढ़ रही हैं। ऐसे में आपको मेथी दानों को प्रयोग में लाना चाहिए। यह किडनी को स्वस्थ रखने में एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है। यह पथरी में एक लाभकारी औषधी के रूप में काम करती है।

जोड़ो का दर्द : मेथीदाना को बारीक पीस लें। एक चम्मच मेथीदाना चूर्ण प्रातः ताजे जल के साथ लें। इससे घुटनो के दर्द मे आराम मिलता है।

चेहरे को सुंदर बनाए : अपने चेहरे को सुंदर बनाने के लिए आप बहुत तरह की चीजें करते होंगे। लेकिन आप एक बार मेथी दानों को प्रयोग में लाइए। इसका फायदा यह है कि यह आपके शरीर से फ्री रेडिकल्स को बाहर निकालती है जिससे झुर्रियां, फाइन लाइन्स, काले घेरे और इंफेक्शन जैसे गंभीर फेशियल प्रॉब्लम्स निजात मिलता है। मेथी दानों का एक और फायदा है। इससे न केवल चेहरे पर ग्लो आता है बल्कि चेहरे से काले घेरे और सन डेमेज्ड स्किन को भी हटाती है।

बुखार में भी मिलता है आराम : मेथी से बुखार को भी दूर किया जा सकता है। इसके लिए मेथी के दानों को एक छोटे चम्मच नींबू के रस और शहद के साथ खाएं।

पाचन संबंधी समस्या को दूर : पाचन संबंधी समस्या को दूर करने में मेथी के दाने रामबाण की तरह काम करते हैं। इससे पेट दर्द और जलन तो दूर होती ही है साथ ही इससे पाचन क्रिया भी दुरुस्त रहती है।

डायबिटीज के रोगियों लिए : आज के समय में डायबिटीज के रोगियों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे में घरेलू उपचार की तरफ लोगों का ध्यान जा रहा है। मेथी ऐसे कई सारे गुण मौजूद हैं जो मधुमेह रोगियों को राहत देने का काम करती है। इसमें मौजूद एमीनो एसिड तत्व पैनक्रियाज़ में इंसुलिन के स्राव को बढ़ाता है जो शरीर से ब्लड शुगर लेवल कम करता है।

विशेष ध्यान देने योग्य सलाह

मेथीदाना पाउडर की फक्की लेने की बजाय रात में इसको एक गिलास पानी में भिगो कर रख दे, सुबह मेथीदाना चबा चबा कर खा ले और ऊपर से यही भिगोया हुआ पानी पी ले। अधिकता से बचे , रोगी व्यक्ति योग्य वैद्य या जानकर से सलाह जरूर लें।

Author: admin

A team work for healthy nature & healthy life

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *