Benefits Of Green Salad

सलाद और आपका स्वास्थ्य

ग्रीन सलाद विटामिन बी12 का भी अच्छा स्त्रोत माना जाता है। सलाद खाने से शरीर में सरराटोनिन और डॉपमाइन जैसे तत्वों की पूर्ति होती है। जिसके चलते थकावट और झुंझलाहट जैसी परेशानियों से बचा जा सकता है।

ग्रीन सलाद मे कई तरह के पोषक तत्व प्राप्त होते हैं। भोजन मे जब सभी पोषक तत्व प्राप्त नहीं होते तो सलाद उसकी कमी पूरी कर देते हैं। इसके अतिरिक्त सलाद में फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जिसके कारण पेट लंबे समय तक भरा रहता है। साथ ही शरीर की कार्यप्रणाली जैसे पाचन तंत्र आदि को सुचारू रूप से कार्य करने में सहायक होती है। वहीं यह इम्युन सिस्टम को मजबूत बनाता है व कई तरह की बीमारियों जैसे हृदय रोग, कैंसर, स्किन प्रॉब्लम, पेट की समस्या को दूर करने व ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद करता है।

सलाद में शामिल कई सब्जियां जैसे खीरा आदि में पर्याप्त मात्रा में पानी पाया जाता है। यह शरीर में पानी की कमी पूरी होती है। जहां एक ओर सलाद व्यक्ति को निर्जलीकरण से बचाता है, वहीं दूसरी ओर यह शरीर को ऊर्जावान बनाए रखता है।

सलाद में केवल खीरा, प्याज व टमाटर ही शामिल न करें, बल्कि सलाद में मौसम के अनुसार हरी सब्जियाँ जैसे गाजर, प्याज,चुंकदर, ककड़ी, पालक, मूली व पत्तागोभी ,ब्रोकली आदि को भी शामिल करें। इस तरह की सब्जियां स्किन के लिए काफी अच्छी होती हैं। यह स्किन समस्याओं को दूर करने के साथ−साथ एंटी−एंजिंग की तरह भी काम करते हैं।

सलाद को और अधिक प्रभावी बनाने के लिए इसमें अतिरिक्‍त एंटीऑक्सीडेंट भी जोड़ सकते हैं। सलाद में , अजवाइन के फूल या पत्ती, हरी मैथी, अदरक,धनिया, सोआ, पुदीना आदि औषधीय गुणों वाले खाद्य पदार्थ और जड़ी-बूटियों को मिलाया जा सकता है।

सलाद को हम बेफ्रिक होकर खा सकते हैं क्योंकि उसमें कैलोरी बेहद ही कम होती है। साथ ही थकावट को भी दूर करता है। इसके अतिरिक्त जो लोग वजन कम करने की फिराक में रहते हैं, उनके लिए सलाद का सेवन विशेष रूप से लाभदायी माना गया है।

चूँकि सलाद में सबसे ज्यादा फाइबर होते हैं इसलिये सलाद खाने से भूख आसानी से शांत हो जाती है। सलाद को भोजन से कम से कम 15 मिनट पहले खाना चाहि ,इससे आपको खाना खाते समय कम भूख लगती है जिस वजह से आप कम रोटी या चावल खाते हैं यानि आप कम कार्बोहाईड्रेट लेते हैं जिस वजह से आपका वजन भी कंट्रोल हो रहा है और आपको सारे प्रोटीन, फाइबर, विटामिन और मिनरल भी मिल जाते हैं।

सलाद जितना सादा होता है उतना ही स्वास्थ्यवर्धक होता है l सलाद में नमक बहुत ही कम डालना चाहिए l काला नमक या सेंधा नमक डालें । रात को खाने से पहले सलाद खाना चाहिए इससे ज्यादा फायदा मिलेगा। ।

शरीर को पर्याप्‍त पोषण देने के लिए आप सलाद के रूप में विभिन्‍न प्रकार के फलों का सेवन कर सकते हैं। इसलिए आप सलाद में फलों के रूप में आम, स्‍ट्रॉबेरी, ब्‍लूबेरी, अंजीर, आडू , अंगूर, अनानास, संतरा, अनार, पपीता, अमरूद,सेव,एवोकैडो आदि को मिला सकते हैं। इस तरह से आप अपनी सलाद में फलों का उपयोग कर इन्‍हें स्‍वादिष्‍ट और पौष्टिक बना सकते हैं।

सलाद में अंकुरित अनाजों को शामिल करना हरी सब्जी आधारित सलाद की पौष्टिकता को बढ़ा सकता है। सलाद में गेंहू (विटामिन ए, बी, सी और ई), मूंग, बीन्‍स (प्रोटीन, फाइबर और विटामिन ए), मटर (Folic acid, विटामिन ए और सी), मसूर (प्रोटीन, एंटी-कैंसर एंजाइम), सूरज मुखी (वसा, खनिज, फाइबर और फैटी एसिड) आदि आनाजों को पोषक त्‍तव और पर्याप्‍त मात्रा में विटामिन प्राप्‍त करने के लिए अपनी सलाद में शामिल कर सकते हैं। अंकुरित सलाद को भोजन की तरह न खाएं बल्कि आप इसे दिन मे थोड़ा सा खाएं तो ये स्वास्थ्यवर्धक सलाद बन जाएगा। स्प्राउट सलाद मे हम खीरा, टमाटर, ऊबले हुए आलू और प्याज भी डाल सकते हैं l इसमें भी नमक हल्का रखें और चाहें तो इसमें नींबूं डाल लें। नींबू में विटामिन सी होता है जो हम सबके लिए फायदेमंद है।

सलाद खाने में कुछ सावधानियां

आमतौर पर सलाद को स्‍वास्‍थय के लिए फायदेमंद माना जाता है। लेकिन सही से साफ न किया हुआ या शादी समारोह या अन्य कार्यक्रमों में खुले में रखा हुआ सलाद का सेवन करना लाभकारी नही है तो यह हमारे लिए नुकसानदायक भी हो सकती है। नमक या चाट मसाला भी सलाद पर कम ही डालकर खाना चाहिए

फलों के सलाद ना तो रात को खाना खाने से पहले खाएं और ना ही खाना खाने के बाद खाएं क्योंकि दोनों ही स्थिति में ये लाभकारी नही है। शुगर लेवल अचानक से इतना बढ़ सकता है। इसे दिन में खाएं या फिर अगर दिन में कोई एक फल भी खाते हैं तो ये जरूरी नहीं है कि प्लेट भरकर फलों का सलाद खायें।

सलाद का उपयोग करने से पहले इसे साफ पानी से धोना चाहिए। नहीं तो फलों और सब्‍जीयों की ऊपरी सतह के बैक्‍टीरिया हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक हो सकते हैं।
सलाद कुछ लोगों के लिए एलर्जी (Allergies) का कारण बन सकता है।
गर्भवती महिलाओं के लिए कच्ची सलाद (salad) खाने की सलाह नहीं दी जाती है। यह उनके शरीर में सूजन का कारण हो सकता है।
अधिक मात्रा में सलाद का सेवन आपके पाचन तंत्र (Digestive System) को खराब कर सकता है। सलाद को भोजन करने से कम से कम 15 मिनट पहले खाएं।

Author: admin

A team work for healthy nature & healthy life

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *