Benefits Of Green Fenugreak

आयुर्वेद के अनुसार मेथी एक बहुगुणी औषधि के रूप में प्रयोग की जा सकती है। भारतीय रसोईघर की यह एक महत्वपूर्ण हरी सब्जी है। प्राचीनकाल से ही इसके स्वास्थ्यवर्धक गुणों के कारण इसे सब्जी और औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता रहा है।

मेथी की सब्जी तीखी, कडवी और उष्ण प्रकृति की होती है.इसमें प्रोटीन केल्शियम,पोटेशियम, सोडियम, फास्फोरस, करबोहाई ड्रेट , आयरन और विटामिन सी प्रचुर मात्र में होते हैं। ये सब ही शरीर के लिए आवश्यक पौष्टिक तत्व हैं।

यह कब्ज, गैस,बदहजमी, उलटी, गठिया, बवासीर, अपच, उच्चरक्तचाप , साईटिका जैसी बीमारियों को दूर करने में सहायक है। यह ह्रदय रोगियों के लिए भी लाभकारी है.मेथी के सूखे पत्ते, जिन्हें कसूरी मेथी भी कहते हैं का प्रयोग कई व्यंजनों को सुगन्धित बनाने में होता है।

मेथी के बीज भी एक बहुमूल्य औषधि के सामान हैं। ये भूख को बढ़ाते हैं एवं संक्रामक रोगों से रक्षा करते हैं। इनको खाने से पसीना आता है, जिससे शरीर के विजातीय तत्व बाहर निकलते हैं।

इससे सांस एवं शरीर की दुर्गन्ध से भी छुटकारा मिलता है।आधुनिक शोध के अनुसार यह अल्सर में भी लाभकारी है।
मेथी से बने लड्डू एक अच्छा टॉनिक है जो प्रसूति के बाद खिलाये जाते हैं। शरीर की सारी व्याधियों को दूर कर यह शरीर में बच्चे के लिए दूध की मात्र बढाती है।

डायबिटीज में मेथी के दानों का पावडर बहुत लाभकारी होता है। इसमें अमीनो एसिड होते है जो कि इन्सुलिन निर्माण में सहायक होता है.ये थकान , कमरदर्द और बदनदर्द में लाभदायक है। इसकी पत्तियों का लेप बालों एवं चहरे के कई विकारों को दूर कर उसे कांतिमय बनाता है।

Author: admin

A team work for healthy nature & healthy life

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *