Benefits Of Garlic

लहसुन

लहसुन कम से कम 150 तरह के रोगों या लक्षणों जैसे कैंसर से लेकर डायबिटीज और दिल के रोगों, रेडिएशन के साईड इफेक्ट्स आदि के नियंत्रण में उपयोगी है।

लहसुन किसी भी सब्‍जी के स्‍वाद को जानदार बना देता है।लेकिन लहसुन में ऐसे गुणकारी तत्‍व मौजूद होते हैं जो आपको कई बीमारियों से दूर रखते हैं। लहसुन में एलिकिन नामक औषधीय तत्व पाया जाता है। एलिकिन में जीवाणुरोधी, एंटीवायरल, एंटीफंगल और एंटीऑक्सिडेंट गुण होते हैं। लहसुन विभिन्न प्रकार के विटामिन और पोषक तत्वों से भी भरपूर होता है। इसमें विटामिन B1, B6 और C के साथ-साथ मैगनीज़ कैल्शिम, तांबा, सेलेनियम और अन्य जरूरी तत्व पाए जाते हैं।

लहसुन के फायदे

लहसुन का सेवन ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखने में मददगार हो सकता है। इसलिए अगर हाई ब्लड प्रेशर के मरीज इसका सेवन करते हैं, तो उन्हें ब्लड प्रेशर को मैनेज करने में काफी मदद मिल सकती है। हाई ब्लड प्रेशर आज के समय की एक बड़ी समस्या बन चुका है, जिसके कारण हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी बीमारियां हो जाती सकती हैं। ऐसे में रोजाना लहसुन का सेवन करने से कई तरह के फायदे हो सकते हैं।

लहसुन के रोजाना सेवन से आप खुद को स्वस्थ रख सकते हैं। एक्सपर्ट्स मानते हैं कि दुनिया में सबसे ज्यादा लोगों की मौत का कारण हार्ट अटैक, स्ट्रोक, कैंसर, हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों से होती है। लेकिन लहसुन का सेवन करने से बीमार होने का खतरा कम हो जाता है।

लहसुन में सल्फर अच्छी मात्रा में पाया जाता है। सल्फर एक ऐसा कंपाउंड है, जो आपके अंगों को धातुओं के जहरीलेपन से बचाता है, जिससे अंग डैमेज नहीं होते हैं। गलत खानपान से शरीर में कई हानिकारक तत्व पैदा हो सकते हैं, इन्हें ही टॉक्सिन्स कहा जाता है। ऐसे में लहसुन का सेवन कर आप शरीर को डिटॉक्स कर सकते हैं।

बढ़ा हुआ खराब कोलेस्ट्रॉल आपकी धमनियों में जमा होकर धमनियों को ब्लॉक कर सकता है, जिससे दिल और दिमाग तक पर्याप्त मात्रा में ब्लड नहीं पहुंच पाता है। इसी कारण से कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर दिल की बीमारियां जैसे हार्ट अटैक, हार्ट फेल्योर के साथ-साथ स्ट्रोक का भी खतरा बढ़ सकता है। लेकिन लहसुन के सेवन से यह खतरा कम हो जाता है।

लहसुन के कुछ उपयोगी घरेलू नुस्खे

  1. एक कप तिल के तेल में 8 लहसुन की कलियां डालकर गर्म करें और ठंडा होने पर कमर से लेकर जांघों तक इससे मालिश करें। इससे साइटिका में काफी लाभ होता है।

2.लहसुन गैस और दिल के रोगों के लिए बहुत उपयोगी माना जाता है। सूखे लहसुन की 15 कलियां 1/2 लीटर दूध और 4 लीटर पानी को एक साथ उबाल लें। इस पानी को इतनी देर उबालें कि पानी आधा रह जाए। इस पाक को जब गैस और दिल के रोग से ग्रसित रोगियों को दिया जाता है तो आराम मिल जाता है।

  1. जिन लोगों को जोड़ों का दर्द या आमवात जैसी शिकायतें हो, लहसुन की कच्ची कलियां चबाना उनके लिए अत्यंत लाभदायक होता है। बच्चों को यदि पेट में कृमि (कीड़े) होने की शिकायत हो तो लहसुन की कच्ची कलियों का 20-30 बूंद रस एक गिलास दूध में मिलाकर देने से कृमि मर कर शौच के साथ बाहर निकल आते हैं।
  2. सरसों के तेल में लहसुन की कलियों को पीसकर उबाला जाए और घावों पर लेप किया जाए तो घाव तुरंत ठीक होना शुरू हो जाते हैं।
  3. हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत हो उन्हें रोजाना सुबह लहसुन की कच्ची कली चबाना चाहिए, नमक और लहसुन का सीधा सेवन खून साफ करता है। और सिर्फ कच्ची लहसुन और शुद्ध दूध का सेवन कैंसर जैसे रोग को भी जड़ से खत्म करता है !
  4. ब्लड में प्लेटलेट्स की कमी होने पर भी नमक और लहसुन का समान मात्रा में सेवन करना चाहिए।
  5. लहसुन के एंटीबैक्टिरियल गुणों को आधुनिक विज्ञान भी मानता है, इसका सेवन बैक्टीरिया जनित रोगों, दस्त, घावों, सर्दी-खांसी और बुखार आदि में बहुत लाभ करता है।
  6. लहसुन की 2 कच्ची कलियां सुबह खाली पेट चबाएं। इसके आधे घंटे बाद आधा चम्मच मुलेठी पाउडर का सेवन करें। यह उपाय दो महीने तक लगातार करें। मान्यता है इससे दमा रोग जड़ से खत्म हो जाता है।
  7. लौकी 50 ग्राम और लहसुन की कलियां 10 ग्राम लेकर पीस लें और इसे आधे लीटर पानी में उबालें। जब आधा पानी रह जाए तो छानकर कुल्ला करें। इससे दांत दर्द दूर होता है।
  8. कान में कीड़ा चला जाने पर डांग- गुजरात के आदिवासी सूरजमुखी के तेल में लहसुन की दो कलियां डालकर गर्म करते है और फ़िर इस तेल की कुछ बूंदें कान में डालते है, इनका मानना है कि इससे कीट बाहर निकल आता है।

Author: admin

A team work for healthy nature & healthy life

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *