55-चेहरे के काले दाग धब्बे और झाइयां दूर करने के घरेलू उपाय

चेहरे के काले दाग धब्बे और झाइयां होने से त्वचा के रंग में एक प्रकार की असमानता दिखनी शुरू हो जाती है। त्वचा पर गहरे कत्थई, काले रंग के धब्बे हो जाते हैं। त्वचा का रंग कभी हल्का तो कभी गहरा हो जाता है। दाग का आकार भी घटता-बढ़ता रहता है। त्वचा में आई इसी असमानता की झाइयां (Pigmentation) कहते हैं। झाइयों की वजह से त्वचा की सतह पर सिर्फ रंग मे बदलाव आता है, पर उसकी संवेदनशीलता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। चेहरे पर झाइयां चांद पर लगे दाग के समान होती है जो चेहरे को सौंदर्य को नष्ट करती है। चेहरे की समस्याओं में से एक झाइयां प्राय: 25-30 वर्ष की उम्र के बाद देखने की मिलती है।

झाइयां होने के प्रमुख कारण
झाइयां तथा चेहरे पर काले दाग होने के प्रमुख कारणों में मुख्य रूप से त्वचा की ग्रंथी की अनियमितता ,लीवर की खराबी , गर्भावस्था, रजोनिवृत्ति, एमीबियासिस, हृदय रोग, डायबिटिज, ल्यूकोरिया, एनीमिया, कब्ज, शरीर में Vitamin ‘A’, ‘E’ की कमी होना आदि कारणों से झाइयों की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

चिडचिडापन , मानसिक तनाव, अत्यधिक चिंता करने से भी झाइयों की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

झाइयां होने के अन्य कारणों में शराब, धूम्रपान लम्बे समय तक दवाइयों का सेवन , नींद की गोलियों का सेवन भी झाइयों का कारण बन सकती है।
अत्यधिक गहरा मेकअप, बार-बार ब्लीच करवाना, तेज धूप में अधिक घूमना, सस्ते व तेज रासायनिक पदार्थ वाले सौंदर्य प्रसाधन का इस्तेमाल करना, रूज, फाउंडेशन, का नियमित प्रयोग करने से भी चेहरे पर झाइयों की समस्या उत्पन्न हो जाती है।
झाइयां होने का प्रमुख कारण लापरवाही है वह चाहे पौष्टिक भोजन लेने में हो या चेहरे के रख-रखाव में। अधिक पुराने सौंदर्य प्रसाधनों के इस्तेमाल से भी झाइयां होती है।

चेहरे के काले दाग धब्बे और झाइयों का घरेलू इलाज

झाइयां दूर करने के लिए आधा चम्मच शहद (Honey) में 4-5 बूंद सिरका मिलाकर झाइयों पर लगाएं। शहद में मैग्नेशियम, कैल्शियम, बीटा कैरीओस्टेटिक आदि तत्व पाए जाते हैं, तथा सिरके में पाए जाने वाले तत्व चेहरे पर उत्पन्न हुए दाग-धब्बों और झाइयों को साफ कर देते हैं। यह प्रयोग सप्ताह में दो बार करें।

आधा चम्मच चंदन, आधा चम्मच हलदी और थोड़ी सी केसर मिलाकर दूध में पेस्ट बना लें। इसे नियमित रूप से लगाने से झाइयां दूर हो जाती हैं। हलदी में पाए जाने वाले तत्व त्वचा को मुलायम व चिकनी बनाते हैं। हलदी रक्तशोधक व कीटाणुनाशक भी होती है। इसमें पाए जाने वाले खनिज पदार्थ, मैग्नीशियम, कॉपर, जिंक त्वचा पर उत्पन्न झाइयों को साफ करते हैं। चंदन त्वचा को ठंडक प्रदान करता है। केसर त्वचा को मुलायम बनाती है व रंगत प्रदान करती है। इस प्रयोग को नियमित करने से झाइयां दूर होती हैं तथा त्वचा साफ व उजली बनती है’
एक चम्मच खीरे का रस, एक चम्मच गाजर का रस, एक चम्मच टमाटर का रस अच्छी प्रकार मिलाकर नियमित रूप से झाइयों पर लगाने से झाइयां दूर होती हैं।

खीरा, गाजर और टमाटर में पाए जाने वाले तत्व अच्छे Bleach का काम करते हैं। इनमें पाया जाने वाला ए.एच.ए. (एल्फा हाइड्रोक्सी एसिड) दाग-धब्बों और झाइयों को दूर करता है।

एक चमम्च संतरे के छिलके का पाउडर और इसमें आवश्यकता अनुसार गुलाबजल मिलाकर पेस्ट बना लें। इसे झाइयों पर लगाएं। संतरे में Vitamin ‘A’, ‘B-2’, iron, phosphorus, copper, folic acid, protein, sodium, calcium पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। संतरे और गुलाबजल में पाए जाने वाले तत्व झाइयों को दूर करते हैं तथा त्वचा को कोमल व आकर्षक बनाते हैं।

पके पपीते के स्लाइज को झाइयों पर रगड़ने से झाइयों की समस्या दूर होती है। पपीते में पाए जाने वाले एंजाइम त्वचा पर प्रभाव डालकर झाइयों को दूर करते हैं। ये तत्व मृत कोशिकाओं को भी हटाते हैं तथा त्वचा को पोषण भी देते हैं। पपीते का उपरोक्त विधि के अनुसार नियमित इस्तेमाल करने से त्वचा साफ, सुंदर, मुलायम और दाग रहित बनती है।

एक चम्मच मूली के रस में आधा चम्मच शहद मिलाकर चेहरे की झाइयों पर लगाने से झाइयां दूर हो जाती हैं। मूली में Vitamins A, B, C, calcium, phosphorus, iron आदि होते है जो झाइयों को दूर करते हैं। यह त्वचा की कोशिकाओं को ऊर्जा व पोषण भी देते हैं। इस प्रयोग के नियमित इस्तेमाल करने से चेहरा सुंदर, मुलायम और आकर्षक बनता है।

शहद, नींबू, कच्चा दूध समान मात्र में मिलाकर झाइयों पर लगाएं। 30 मिनट बाद धो दें। इससे चेहरे के काले दाग धब्बे और झाइयां हट जाती है |

एक बड़ा चमम्च मुल्तानी मिट्टी, तीन बड़े चमम्च संतरे के छिल्को का पाउडर आवश्यकतानुसार खीरे का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएं। सूखने पर ठण्डे पानी से धो लें।

आंवले और नीबू का रस बराबर मात्रा में चेहरे और गर्दन पर मालिश करने से चेहरे की झाइयां धीरे-धीरे मिट जाती हैं और चेहरे का रंग भी साफ हो जाता है।

तुलसी की पत्तियों का रस कच्चे नारियल के साथ पीसकर चेहरे पर लेप करने से भी झाइयां दूर हो जाती है।

झाइयों से छुटकारा पाने के लिए इन बातों पर ध्यान दें !

चेहरे की छाई या झाइयों से बचने के लिए तेज धूप में निकलने से बचें। यदि निकलना आवश्यक हो, तो छतरी लेकर निकलें ।

तनाव मुक्त रहें, हमेशा प्रसन्नचित रहें, खुलकर हसें ।

देर रात तक न जगे। भरपूर नींद लें। सुबह जल्दी उठे।

गहरा मेकअप न करें। रात्रि में सोते समय मेकअप अवश्य उतार दें।
चेहरे पर झाइयां होने पर Hair Dye का इस्तेमाल करने वालों को कुछ
समय के लिए बालों में डाई लगाना बंद कर देना चाहिए।

चेहरे पर झाइयां होने पर रक्त की जांच करवाएं। रक्त में Hemoglobin की कमी होने पर डॉक्टर की सलाह पर Iron tablets का सेवन करें।

दिन-भर में 10-15 गिलास पानी अवश्य पिएं। पानी त्वचा की शुष्कता (ड्रायनेस) को दूर करता है।
चेहरे को बार-बार ब्लीच न करवाएं। अधिक bleaching करने से झाइयां पड़ जाती हैं। जब भी bleaching करवाएं, तो इसके बाद फेशियल अवश्य करवाएं, ताकि ब्लीचिंग के कारण उत्पन्न हुई शुष्कता से Skin Burn (त्वचा का जल जाना) की समस्या उत्पन्न न हो ।

चेहरे पर झाइयां होने पर Bleach नहीं करवाना चाहिए, इससे झाइयां अधिक बढ़ जाती हैं।

Author: admin

A team work for healthy nature & healthy life

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *