13-अदरक के औषधीय उपयोग

हमारे देश में वैसे तो कई प्रकार के मसालों का लगातार उपयोग किया जाता रहा हैं लेकिन इन्हीं में से एक खास हैं अदरक। वैसे तो अदरक का उपयोग कई प्रकार से किया जाता हैं। अदरक को खाने के साथ-साथ चाय में भी इसका इस्तेमाल किया जाता हैं। अदरक का इस्तेमाल कई दवाईयां बनाने में भी लगातार किया जाता रहा है। आज आपको अदरक के कुछ लाभों के बारें में बताने जा रहे हैं-

अदरक का इस्तेमाल मसालों और घरेलु दवाओं के रूप में लगातार किया जाता है। जब अदरक को सूख जाता है तो इस सूखे हुए अदरक को सोंठ कहते है। सोंठ जोड़ों के दर्द, कब्ज, ह्रदय और वात रोगों के लिये काफी फायदेमंद होता है।सोंठ का इस तरह इस्तेमाल करने से वह सेहत के लिये काफी फायदेमंद रहती है।

गठिया दर्द आराम – अदरक का सेवन अपने खाने में करने के साथ-साथ गर्म अदरक के पेस्ट को हल्दी में मिलाकर दर्द वाली जगह पर दिन में दो बार अवश्य लगाये। इसके साथ ही उस जगह पर अदरक के तेल की मालिश भी कर सकते है। जिससे आपको गठिया के दर्द में राहत मिलेगी।

खांसी में फायदेमंद- अदरक एक प्राकृतिक दर्द निवारक है,इसलिए इसका प्रयोग गले की जलन व दर्द को कम करने के लिए किया जाता है। अदरक फेफड़ों से बलगम को कम करने में मदद करती है, जिससे हमें खांसी में राहत मिलती है।

माइग्रेन के दर्द करें दूर- अगर आपको माइग्रेन है तो आपको अदरक वाली चाय पीनी चाहिए जिससे आपका माइग्रेन का दर्द कम हो जायेगा।

मधुमेह में लाभदायक- शुगर पीडि़त लोगों को भी अदरक का सेवन करना चाहिए। इसका सेवन करके वे शुगर से होने वाले साइड इफेक्ट से बच सकते हैं।

यदि सोंठ के साथ हींग और काला नमक मिला लेते है और इसका सेवन करते है तो गैस की समस्या दूर होती है।
कांजी में सोंठ का चूर्ण डालकर पीने से गठिया यानि जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है। सोंठ एवं हरड़ चूर्ण मधु में मिलाकर चाटने से कमर दर्द, कंधे का दर्द, घुटने का दर्द एवं पीठ दर्द दूर हो जाता है।
हरड़, सोंठ तथा अजवायन समभाग लेकर चूर्ण बनाएं और तक्र, गरम जल अथवा कांजी के साथ सेवन करें। इसके सेवन से गठिया एवं जोड़ों की सूजन से मुक्ति मिलती है।
सोंठ, रास्ना, गिलोय, एरण्डमूल का क्वाथ बनाकर पीने से सर्वांगव्यापी आमवात तथा जोड़ों, अस्थियों एवं मांसपेशियों का दर्द दूर होता है।

Author: admin

A team work for healthy nature & healthy life

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *