06-पपीता खाने से कई रोगों का सफल उपचार

पपीता एक ऐसा फल है जो आपको कहीं भी आसानी से मिल जाएगा. अगर आपके घर के सामने कुछ जमीन है तो आप इसका पेड़ भी लगा सकते हैं. ये एक ऐसा फल है जिसे कच्चा होने पर भी इस्तेमाल में लाया जा सकता है.

पपीते में प्रोटीन, पोटैशियम, फाइबर और विटामिन ए जैसे अनेकों पोषक तत्व पाये जाते हैं जो कि शरीर के स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक होते हैं

इसका छिलका बेहद मुलायम होता है जो आसानी से उतर जाता है. इसे काटने पर इसके भीतर कई छोटे-छोटे काले रंग के बीज होते हैं. स्वास्थ्य के लिहाज से ये एक बहुत ही फायदेमंद फल है .

पपीते से ज्‍यादा फायदेमंद होता है उसके बीज फायद

पपीते के बीज भी उतने ही अनमोल और पोषण से भरपूर हैं, जितना कि पपीता। पपीते के बीज भी हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। पपीते के बीज एंटीबैक्टीरियल होते है। पपीते के बीजों के सेवन से शरीर के विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। पपीते के बीज को उपयोग में लाने का सबसे बढ़ीया तरीका इन्हें सुखाकर फिर पीस कर, किसी कंटेनर में भविष्य में प्रयोग हेतु रखना है।

-लिवर औऱ किडनी के रोग

पपीते के बीज में लिवर को ठीक करने के गुण होते हैं। नींबू के रस के साथ पपीते के बीज का निरंतर दो माह तक सेवन करने से यह ठीक होता है। लीवर की समस्याओं से निजात दिलाकर पपीते के बीज उसे मजबूत बनाने का काम भी करते हैं। यह लीवर के लिए बेहतर दवा साबित होते हैं।पपीते के बीज किडनी के लिए भी बेहद फायदेमंद होते हैं। यह किडनी की कार्यप्रणाली को बाधित होने से रोकने में समर्थ हैं। पपीते का बीज किडनी से हानिकारक विषाक्त पदार्थों को दूर कर के उसे शुद्ध बनाते हैं।

-बुखार व हाइपरटेंशन की शिकायत

बुखार आने पर पपीते के बीज का सेवन काफी फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद एंटी बैक्टीरियलतत्व बार- बार फैलने वाले जीवाणुओं से रक्षा करते हैं।पपीते के बीज विषाणुरोधी होने के कारण छोटे-मोटे वायरल इंफैक्शन को आसानी से ठीक कर देते हैं। इसे हाइपरटेंशन की दवा के तौर पर भी यूज किया जा सकता है। इसमें पाए जाने वाले पोटेशियम के कारण यह ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखता है।इसके बीजों में मौजूद घटक कैंसर और एवं टयूमर जैसी बीमारियों के विकास को रोक देते हैं। पपीते के बीज मलाशय, लयूकेमिया,पौरुष ग्रंथि और कैंसर-उपचार में सक्षम हैं।

-पाचन संबधी क्रिया

पपीते के बीज में मौजूद पापेन एंजाइम पाचन प्रक्रिया में सहायक है और यह पाचन प्रक्रिया को सुचारू कर के प्रोटीन-पाचन में मदद करता है। पाचन तंत्र की मजबूती के लिए पपीते के बीज रामबाण इलाज है।। पपीते के दस बीज पानी में पीस कर चौथाई कप पानी में मिला कर पीने से पेट के कीड़े मर जाते हैं

-गठिया या सूजन

पपीते के बीज के गठिया एवं जोड़ों के बीमारियों के लिए भी फायदेमंद होते है इनमें विटामिन-सी के साथ-साथ सूजन-रोधी गुण होते हैं जो गठिया के कई रूपों से शरीर को दूर रखता है। अगर आपको त्वचीय जलन हो रही है तो भी आप पपीते के बीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं। शरीर के किसी अंग में सूजन हो तो भी पपीते के बीजों का इस्तेमाल फायदेमंद रहता है।पपीते के दस बीज पानी में पीस कर चौथाई कप पानी में मिला कर पीने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।

  • कोलेस्ट्रॉल कम करन में सहायक

पपीते में उच्च मात्रा में फाइबर मौजूद होता है. साथ ही ये विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट्स से भी भरपूर होता है. अपने इन्हीं गुणों के चलते ये कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में काफी असरदार है.

  • वजन घटाने में

एक मध्यम आकार के पपीते में 120 कैलोरी होती है. ऐसे में अगर आप वजन घटाने की बात सोच रहे हैं तो अपनी डाइट में पपीते को जरूर शामिल करें. इसमें मौजूद फाइबर्स वजन घटाने में मददगार होते हैं .

  • रोग प्रतिरक्षा क्षमता बढ़ाने में

रोग प्रतिरक्षा क्षमता अच्छी हो तो बीमारियां दूर रहती हैं. पपीता आपके शरीर के लिए आवश्यक विटामिन सी की मांग को पूरा करता है. ऐसे में अगर आप हर रोज कुछ मात्रा में पपीता खाते हैं तो आपके बीमार होने की आशंका कम हो जाएगी.

  • आंखों की रोशनी बढ़ाने में

पपीते में विटामिन सी तो भरपूर होता ही है साथ ही विटामिन ए भी पर्याप्त मात्रा में होता है. विटामिन ए आंखों की रोशनी बढ़ाने के साथ ही बढ़ती उम्र से जुड़ी कई समस्याओं के समाधान में भी कारगर है.

  • पाचन तंत्र को सक्रिय रखने में

पपीते के सेवन से पाचन तंत्र भी सक्रिय रहता है. पपीते में कई पाचक एंजाइम्स होते हैं. साथ ही इसमें कई डाइट्री फाइबर्स भी होते हैं जिसकी वजह से पाचन क्रिया सही रहती है.

  • पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द में

जिन महिलाओं को पीरियड्स के दौरान दर्द की शिकायत होती है उन्हें पपीते का सेवन करना चाहिए. पपीते के सेवन से एक ओर जहां पीरियड साइकिल नियमित रहता है वहीं दर्द में भी आराम मिलता है

कब्ज

पपीता शरीर की पाचन शक्ति को मजबूत करता है और साथ ही पेट में गैस बनने से भी रोकता है. कब्ज के कारण परेशान लोगों को सुबह खाली पेट पपीता खाने से कब्ज की समस्या में तेजी से आराम मिलता है.

पीलिया

पीलिया रोग से पीड़ित लोगों के लिए पपीता एक रामबाण की तरह से माना जाता है. पीलिया की बीमारी हो जाने पर कच्चा पपीता नियमित खाने से पीलिया की बीमारी बहुत जल्दी ठीक हो जाती है.

विटामिन की कमी
अगर आपके शरीर में विटामिन की कमी है तो कच्चे पपीते का सेवन इस प्रॉब्लम को दूर कर सकता है। इसमें विटामिन सी और ए के साथ कई तरह के तत्व पाए जाते हैं, जिससे शरीर में विटामिन की कमी को दूर हो जाती है।


Author: admin

A team work for healthy nature & healthy life

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *